Breaking News
  • 2019 में महाराष्ट्र में अकेल दम पर चुनाव लड़ेगी शिवसेना
  • रेप के आरोपी दाती महाराज ने पेशी के लिए पुलिस से मांगी दो दिन की मोहलत
  • यूपी: गो हत्या के आरोप में शख्स की पीट-पीट कर हत्या

GST में बड़े भ्रष्टाचार का पर्दाफाश- CBI के हत्थे चढ़े कमिश्नर समेत 9 लोग

कानपुर: केंद्र की सत्ता पर काबिज मोदी सरकार ने पिछले साथ देश में नई कर व्यवस्था (GST) लागू करते हुए बताया कि यह आजादी के बाद देश हित में सबसे बड़ा बदलाव है। GST लागू करने के पीछे सरकार की बड़ी मंशा थी कि जनता को रिश्वतखोरी की समस्या से निजात दिलाते हुए कर प्रणाली को आसान बनाया जाए, लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि सरकार की यह कोशिश भी असफल सबित हुई।

बता दें कि GST लागू होने के बाद से एक ओर व्यापरियों की परेशानियों में बढ़ोतरी हो रही, जिस पर प्रदर्शन भी किया जा चुका है, तो वहीं अब GST में भ्रष्टार के मामले में सामने आ रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के कानपुर में जीएसटी और केंद्रीय उत्पाद आयुक्त संसार चंद समेत 9 लोगों को (रिश्वत के मामले) हिरासत में लिया है।

कॉमेडी के ‘बाप’ ब्रह्मानन्दम की 12 बड़ी बातें- नहीं जानते होंगे आप...

हिरासत में लिए गए तीन लोग सरकारी अधिकारी हैं। इस पूरे मामले पर सीबीआई की ओर से बताया गया कि कानपुर में जीएसटी के आयुक्त संसार चंद एक  ‘रिश्वत रैकेट’  चला रहे थे। यहां के व्यापारियों और उद्योगपतियों ने बताया कि जो लोग नियमित रूप से रिश्वत देते रहे उसके खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया जाता था, चाहे वो जीएसटी भी जमा नहं किया हो।

Full Video: यहां सुनिए- कैसा है भारत का बजट 2018

बताया जा रहा है कि रिश्वत का पैसा जमा करने का काम तीन लोगों के हाथ में था और पैसे का लेनदेन हवाला के जरिए होता था, जिसमें कमिश्नर की पत्नी भी शामिल थीं। कारोबारियों से संसार चंद की पत्नी को महंगे टीवी, फ्रिज के साथ अन्य कई तरह के सामान देने को कहा जाता था।

VIDEO: बजट 2018 के बाद पत्रकार रवीश कुमार का खास विश्लेषण- 'बजट का बजा बैंड'

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीती रात सीबीआई ने कानपुर और दिल्ली में चलाए गए अभियान के तहत इस रैकेट का पर्दाफाश किया है। हिरासत में लिए गए अधिकारी आयुक्त के तौर पर तैनात थे, जो भारतीय राजस्व सेवा के 1986 बैच के अधिकारी हैं। तो वहीं इस मामले में दो अधीक्षक, एक निजी स्टाफ और पांच गैर सरकारी व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया गया है।

loading...