Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

सिर्फ 59 मिनट में लोन, पेशन और ट्रांसपोर्ट के लिए कार्ड, ... तो बढ़ाया जाएगा ताकत

नोएडा : नोटबंदी के कारण अनेकों छोटे दुकान बंद हो जाने से देश की उत्पादक क्षमता में कमी आ गई थी। जिसे देखते हुए मोदी 2.0 सरकार ने छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन एवं मात्र मिनट में ही सभी दुकानदारों को लोन देने  की योजना बनाई है, जिससे उत्पादन और निवेश को बढ़ावा दिया जा सकें। ऐसा अनुमान है कि इस योजना से लगभग 3 करोड़ से अधिक छोटे दुकानदारों को लाभ मिलेगा। वहीं वित्त मंत्री सीतारमण ने हर किसी को घर देने की योजना पर आगे बढ़ने की बात कहीं।

अपने बज़ट संबोधन के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नेशनल ट्रांसपोर्ट कार्ड का ऐलान किया है। जिसका इस्तेमाल रेलवे और बसों में किया जाएगा। इसे रूपे कार्ड की मदद से भी चलाया जा सकेगा, जिसमें बस का टिकट, रेल का टिकट, पार्किंग का खर्चा सभी एक साथ किया जा सकेगा। इसके साथ ही सरकार ने MRO का फॉर्मूला अपनाने की बात कही है, जिसमें मैन्यूफैक्चरिंग, रिपेयर और ऑपरेट का फॉर्मूला लागू किया जाएगा।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि महात्मा गांधी का विचार था कि भारत की आत्मा गांवों में बसती है, हमारी सरकार अपनी हर योजना में अंतोदय को बढ़ावा देने जा रही है। हमारी सरकार का केंद्र बिंदु गांव, किसान और गरीब है। हमारा लक्ष्य है कि 2022 तक हर गांव में बिजली पहुंचेगी। उज्ज्वला योजना और सौभाग्य योजना के जरिए देश में काफी बदलाव आया है।

सीतारमण ने कहा कि स्फूर्ति के जरिए देश में 100 नए क्लस्टर बनाए जाएंगे। 20 प्रोद्योगिकी बिजनेस इंक्यूबेटर स्थापित किए जाएंगे, जिसके जरिए 20 हजार लोगों को स्किल दिया जाएगा। कृषि अवसंरचना में अब इंवेस्टमेंट को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 10 हजार नए किसान उत्पादक संघ बनेंगे, दालों के मामले में देश आत्मनिर्भर बने है। हमारा लक्ष्य आयात पर कम खर्च करना है। डेयरी के कामों को भी बढ़ावा देना है। अन्नदाता अब ऊर्जादाता भी हो सकता है। किसान को उसकी फसल का सही दाम देना हमारा लक्ष्य है।

जिस FDI पर करोड़ों लोगों ने नज़र बनाये रखा था, उसपर वित्त मंत्री ने कहा कि मीडिया में भी विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। मीडिया के साथ-साथ एविऐशन और एनिमेशन के सेक्टर में भी FDI पर विचार किया जाएगा। इसके अलावा बीमा सेक्टर में भी 100 फीसदी FDI पर भी विचार किया जा रहा है। सीतारमण ने कहा कि भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक बड़ी ताकत के रूप में उभरा है। हमारी सरकार इस ताकत को और भी बढ़ाना चाहती है और सैटेलाइट लॉन्च करने की क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

loading...