Breaking News
  • नमो एप के जरिए पीएम मोदी ने की सौभाग्य योजना के लाभार्थियों से बात
  • उत्तराखंड: टेहरी जिले में चम्बा-उत्तरकाशी मार्ग पर बस खाई में गिरी, 10 की मौत, तई घायल
  • आडवाणी के करीबी चंदन मित्रा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, टीएमसी में हो सकते हैं शामिल
  • ग्रे. नोएडा बिल्डिंग हादसे में अबतक 8 की मौत, अथॉरिटी प्रोजेक्ट मैनेजर समेत 3 सस्पेंड

जल्द खत्म होगी कॉल ड्रॉप की समस्या- ये कंपनियां उठा रही है बड़े कदम...

नई दिल्ली: भारत में रहने वाले लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं। उन्हीं में से एक बड़ी समस्या टेलीकॉम सेक्टर से जुड़ा है। हालांकि अब ऐसा लग रहा है, जैसे भारतीय को इस समस्या से निजात मिलेगा।

दरअसल, टेलीकॉम सेक्टर के लिए कॉल ड्रॉप की समस्या आम बात है, लेकिन इसका भारी नुकसान ग्राहकों को उठाना पड़ता है। हालांकि अब खबर है कि कॉल ड्रॉप की समस्या से आजादी दिलाने के लिए भारती एयरटेल और रिलायंस जियो जैसी अग्रणी टेलिकॉम कंपनियों बड़े कदम उठाए हैं।

क्या है ‘खेलो इंडिया’- आज से हो रहा है आगाज, PM मोदी करेंगे उद्घाटन

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कॉल ड्रॉप की समस्या से निपटने के लिए एयरटेल और जियो जैसी अग्रणी टेलिकॉम कंपनियां अगले वित्त वर्ष में 74 हजार करोड़ रुपए खर्च करने की प्रतिबद्धता जाहिर की है। जानकारी के अनुसार इस संबंध में भारती एयरटेल और रिलायंस जियो जैसी टीएसपी की बड़ी कंपनियों के अधिकारियों ने मंगलवार को कॉल ड्रॉप के मुद्दे पर चर्चा के लिए दूरसंचार सचिव से मुलाकात की है।

किसी के भी दांत के साथ हो सकता है ऐसा- जाने आसान व घरेलू दवा !

इसकी जानकारी देते हुए दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदराजन ने बताया कि एयरटेल ने आधारभूत ढांचे के लिए 16 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया है और आगे 24 हजार करोड़ का निवेश करेगी। उन्होंने बताया कि उन्होंने कहा, 'रिलायंस जियो आगामी वित्त वर्ष में एक लाख टॉवर लगाने के लिए 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी'।

कासगंज में तिरंगा यात्रा पर बवाल के बाद अब आगरा और फिरोजाबाद में...

 इसके अलावा, दूरसंचार कंपनियों ने मोबाइल टॉवर लगाने के लिए पर्याप्त संख्या में जगह की अनुपलब्धता की समस्या के बारे में बातचीत की है। इन कंपनियों ने अपने विश्लेषण में सचिव को सूचित किया कि कॉल ड्रॉप की समस्या स्थिर है, लेकिन कॉल फेडिंग जैसी अन्य समस्याएं बढ़ी हैं।

loading...