Breaking News
  • राजस्थान सरकार ने लागू किया सातवां वेतन आयोग
  • बोफोर्स: माइकल हर्शमेन के ख़ुलासों के बाद कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, भाजपा ने मांगा जवाब
  • प्रधानमंत्री मोदी समेत अन्य लोगों ने दी देशवासियों को दीपावली की शुभकामनाएं
  • दीपावली के पावन पर्व पर आप सबको हार्दिक शुभकामनाएं

एयर इंडिया ने निकाली यह तरकीब, बचाएगी करोड़ों रुपए

नई दिल्ली: भारत की सरकारी एयरलाइन्स एयर इंडिया ने किफायत करने का अनूठा तरीका खोज निकाला है। मंगलवार को संसद में बताया गया कि एयरलाइन्स एअर इंडिया ने मांसाहारी भोजन न परोसने की के फैसले से सालाना 10 रूपये बचा सकेगी। इसके साथ ही एयर इंडिया यात्रिओं को बेहतर सुविधाएँ भी दे सकेगी।

मंगलवार को संसद में नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने लिखित जवाब में बताया कि सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया ने घरेलू उड़ानों में मांसाहारी भोजन न परोसने के फैसले से हर साल 10 करोड़ रुपये बचाने की बात कही है। एअरलाइंस अधिकारिओं की ओर से मंत्रालय को बताया गया है कि एयर इंडिया ने अपनी घरेलू उड़ानों के केवल इकॉनमी क्लास में मांसाहारी भोजन नहीं परोसने का फैसला किया है। जिससे हर साल 10 करोड़ रूपये बचाए जा सकते हैं। बयान में कहा गया है कि अभी तक विमान में मांसाहारी भोजन परोसा जाता था, जोकि अब बंद हो गया है। इससे कहा गया है कि मांसाहारी भोजन को बनाने में समय के साथ साथ ईधन की भी ज्यादा खपत होती थी।

जिसके चलते एयरलाइन्स में अब मांसाहारी भोजन नहीं परोसा जाएगा। एयर इंडिया इस तरीके से 10 करोड़ रूपये की सालाना बचत कर सकती है। साथ ही   इसका मकसद लागत को कम करना, अपव्यय को कम करना है। उन्होंने कहा कि व्यंजन सूची  व भोजन सारणी में बदलाव, ड्राई स्टोर का बेहतर प्रबंध और मौजूदा रुझान के हिसाब से सहायक चीजों को खर्च में कमी के लिए चुना गया है। इससे एयर इंडिया सालाना 20 करोड़ रुपये बचा सकेगी।

मंत्री ने बताया कि एयरइंडिया घरेलु उड़ानों में बेहतर सुविधाएँ देने के लिए यह कदम उठा रही है। जिससे यात्रिओं को सहूलियत हो सके। अभी तक सभी घरेलु उड़ानों में में शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह का भोजन मिलता था। लेकिन अब घरेलु उड़ानों में मांसाहारी भोजन नहीं मिलेगा।   

loading...