Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुवनेश्वर दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान DAYE ने ओडिशा के गोपालपुर तट पर दी दस्तक
  • एशिया कप: पाकिस्तान को 9 विकेट सो धोकर फाइनल में पहुंचा भारत

श्रीदेवी के गुप्त सम्बन्धो का खुलासा, इतने मर्दो के साथ…

मुंबई:- दोस्तों 80 का दशक हिंदी फ़िल्मों में हीरोइनों के लिहाज़ से श्रीदेवी का दशक कहा जा सकता है,क्योंकि इस दौर में उन्होंने हिम्मतवाला, मिस्टर इंडिया, तोहफा हिम्मतवाला, मिस्टर इंडिया, तोहफा और नगिना जैसी एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में दी। जिसकी बदलौत उन्हे लेड़ी अमिताभ बच्चन भी कहा जाने लगा। उस दौर में श्रीदेवी कई नवजवौनों की दिल की धड़कन थी। लेकिन उसी दौर में उनकी नीजि जिंदगी में काफी उथल पुथल भी मची हुई थी।

बेर्शम हुई राखी सांवत, कर डाला ये कांड कि हर कोई सुना रहा है खरी खोटी

बता दें कि श्रीदेवी का नाम उस दौर में कई अभिनेताओं से अफेयर में भी सामने आया। स्टारडस्ट पत्रिका की एक रिपोर्ट में यहां तक कहा गया कि श्रीदेवी ने मिथुन चक्रवर्ती के साथ चुपचाप शादी रचा ली है। पहले से शादीशुदा मिथुन कि जिंदगी में इस खबर से मानों भूचाल आ गया था। मिथुन ने दुनिया के सामने इस रिश्ते को कभी स्वीकार नही किया। जिसके चलते फिर श्रीदेवी ने भी मिथुन से नाता तोड़ दिया।

जब रेखा ने सरेआम उतारे थे सारे कपड़ें, इस एक्टर के साथ तोड़ी हदें

श्रीदेवी ने जितेंद्र के साथ एक के बाद एक कई शानदार फिल्में की थी। उनकी जोड़ी का सुपरहिट गाना ‘नैनों मे नैना’ पर आज भी लोग थिरक उठते है। कई फिल्मों में एक साथ काम करने से लोगों ने इन दोनों कलाकारों का नाम लव अफेयरों में जोड़ना शुरु कर दिया। लेकिन दोनों ने कभी भी सार्वजनिक रुप से इस रिश्ते को नहीं स्वीकारा।

इसके बाद श्रीदेवी के फिल्म प्रोड्यूसर बोनी कपूर से काफी दिनों तक नाजायज संबंध रहे। नाजायज इसलिए क्योकि बोनी कपूर पहले से ही शादीशुदा थे। इनके इस रिश्ते को छिपाए रखने की दोनों ने पूरी कोशिश की। खुद श्रीदेवी ने अपने एक इंटरव्यू में कह चूकी हैं कि, ‘एक बार मुझे बोनी कपूर की पत्नी को ये यकिन दिलाने के लिए कि, हमारे बीच कुछ नहीं है, बोनी की कलाई पर राखी तक बांधनी पड़ी थी’। लेकिन इसके बाद श्रीदेवी बोनी कपूर की दूसरी पत्नी बन गई।

एक दिन में इतना खर्च करते है अंबानी परिवार, आपके भी उड़ जाएंगे होश...

बोनी कपूर की पहली पत्नी का नाम मोना कपूर था। जिनसे उन्हे अर्जन कपूर और अंसुला कपूर दो बच्चे भी है। बोनी और श्रीदेवी की शादी से उनके परिवार में हलचल मच गई थी। कहा जाता है कि लंबे समय के बाद भी श्रीदेवी के अर्जुन और मोना से रिश्ते अच्छे नहीं हो पाए।

इन सभी पहलुओं को देख हम कह सकते है कि श्रीदेवी का एक्टिंग करीयर भले ही परफेक्ट रहा हो, लेकिन उनकी नीजि जिंदगी कभी भी परफेक्ट नहीं हो पाई। शायद किसी शायर ने इन कलाकारों पर बिलकुल सही शायरी लिखी है, कि

‘लाजवाब है मेरी जिंदगी का फसाना...

कोई सीखे मुझसे हर पल मुस्कुराना

भले ही लाखों दर्द है मेरे भी सीने में

पर कलाकार हुं यारो, मेरा काम है दिल बहलाना’    

loading...