Breaking News
  • संसद के मॉनसून सत्र से पहले लोकसभाध्यक्ष ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • गुजरात में बारिश से अबतक 28 की मौत, यूपी-एमपी में अलर्ट
  • मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी टीडीपी, विपक्षी दलों से मांगा समर्थन
  • भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे मैच

आखिरी स्टेज में है सोनाली बेंद्रे का कैंसर, जानिए कैसी है हालत!

मुंबई: पिछले दिनों बॉलीवुड की एक दिग्गज अभिनेत्री श्रेदीव के एक-एक मौत की खबर ने सभी लोगों को हैरान कर दिया था। जिसके बाद एक बॉलीवुड से एक और ऐसी खबर आई जिसमें पूरे फिल्म इंडस्ट्री को हैरान कर दिया। दरअअसल, ये खबल 43 साल की मशहूर एक्ट्रेस सोनाली बेंद्र को कैंसर की खबर है। जिसका खुलासा अभिनेत्री ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए किया।

आपको बता दें कि फिलहाल सोनाली बेंद्र इलाज के लिए विदेश में है, वहीं भारत में ‘सोनाली को कैंसर’ की खबर आग की तरह फैल रही है। मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तह सोनाली ही सोनाली की चर्चा चल रही है। ऐसे में कभी सोनाली का अतति बताया जा रहा है तो कई कहीं कुछ और, लेकिन यहां आपको उस कैंसर के बारे में बता रहे है, जिसके चपेट में सोनाली बेंद्र आ चुकी है।

जब मीडिया से परेशान संजय दत्त ने कहा, क्या मां चो... रहे हो यार!

मामले में जिस तरह की बाते आ रही है, उससे पता चलता है कि सोनाली इसके चपेट में काफी दिनों पहले ही आ चुकी थी, लेकिन इसकी जानकारी उन्हें हाल के दिनों में लगी। हालांकि फिलहाल इस बात की जानकारी साफ तौर पर नहीं दी गई है कि सोनाली को आखिर कौन सा कैंसर हुई है (शरीर के किस हिस्से में ट्यूमर बना), लेकिन आधिकारिक बयान में बताया गया कि वह 'हाई-ग्रेड कैंसर' के चपेट में हैं और उनका कैंसर 'मेटास्टाइज' हो चुका है।

मेटाटाइस्ड कैंसर को अगर आसान शब्दों में समझे तो, कैंसर शरीर के अन्य हिस्से में भी फैल चुका है। जानकारों के अनुसार, शरीर में बना ट्यूमर के सेल्स टूटकर खून या लसीका के जरिए शरीर के अन्य हिस्से में फैलने लगते हैं तब इसे मेटाटाइज कहा जता है। कैंसर के इस स्टेज को आखिर स्टेज माना जता है, लेकिन ऐसा नहीं है कि इस अवस्था में इलाज नहीं किया जा सकता।

OMG: एक बिल्ली की मौत से पूरे देश में पसरा सन्नाटा!

बताया जाता है कि कैंसर के मरीज को कब कौन सा ट्रीटमेंट देना है यह फैसला कैंसर स्टेज के पता चलने के बाद डॉक्टर करते हैं। कैंसर स्टेज का सीधा मतलब है ट्यूमर का आकार और इसके शरीर में फलने से। जो आम तौर पर चार प्रकार का होता है। कैंसर के पहले स्टेज में ट्यूमर का आकार छोटा होता है और यह शरिर के संबंधित अंग के अंदर ही होता है।

जबकी दूसरे स्टेज के अनुसार इसमें विस्तार होता है और चौथे स्टेज में कैंसर अपने मूल स्थान से शरीर के अन्य हिस्सों में भी फैलने लगता है, जिसे आखिरी स्टेज कहा जाता है। वहीं अगर आप कैंसर के ग्रेड की बात करते हैं तो यह कैंसर स्टेज से अलग होता है। दरअसल, कैंसर का स्टेज इस बात की जानकारी देता है कि कैंसर शरीर में किस हद तक फैला है, वहीं कैंसर ग्रेड यह बताता है कि शरीर में ट्यूमर के फैलने की क्षमता कितनी है।

यहां गौर करने वाली बात हैं कि सोनाली के मामले में 'हाई-ग्रेड कैंसर' बताया जा रहा है, यानी यहां खतरा अधिक दिखता है, लेकिन फिलहाल इस संबंध में तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता है जब तक कोई जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती।

यहां जानिए सोनी बेंद्रे का इतिहास!

loading...