Breaking News
  • कुलभूषण जाधव मामले में आज आएगा फैसला, पाकिस्तानी वकील पहुंचे हेग
  • प्रयागराज : सपा सांसद अतीक अहमद के कई ठिकानों पर छापा
  • सिद्धू के इस्तीफे पर आज फैसला लेंगे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर
  • कर्नाटक मामले में आज सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

‘खतरे में है संविधान, मोदी को वोट मत देना’

मुंबई: देश में एक बार फिर से ऐसा माहौल बन रहा है, जो 2015 में था। उस समय भी देश के कुछ साहित्यकारों द्वारा देश में असहिष्णुता की बात कहकर पुरस्कार वापसी की गई थी। जिस कारण देश का माहौल काफी खराब हो गया था। अब एक बार फिर देश में संविधान खतरे की बात कहकर बीजेपी को वोट न देने की अपील की जा रही है। जिसका प्रतिनिधित्व नशीरूद्दीन शाह कर रहें है।

उनके साथ आर्ट एवं थियेटर जगत की 600 से ज्यादा हस्तियां भी शामिल है, जो इस मूवमेंट का साथ दे रहे हैं। सभी हस्तियों ने एक पत्र लिखकर लोगों से कहा है कि वे बीजेपी और उसके सहयोगियों को वोट न देकर सत्ता से बाहर करें। इस मूवमेंट में अमोल पालेकर, नसीरूद्दीन शाह, गिरीश कर्नाड, एमके रैना और उषा गांगुली जैसे चर्चित नाम भी हैं।

पीटीआई के अनुसार इस पत्र में, सभी हस्तियों ने जोर देते हुये कहा कि भारत की और इसके संविधान की अवधारणा खतरे में है। बीजेपी को वोट ना करें। आपको बता दें, कि यह पत्र  पत्र गुरुवार को जारी किया गया था, जिसे देश की 12 भाषाओं में तैयार कर आर्टिस्ट यूनाइट इंडिया के वेबसाइट पर डाला गया है।

पत्र में कहा गया है कि,  "आगामी लोकसभा चुनाव देश के इतिहास के सबसे अधिक गंभीर चुनाव है। आज गीत, नृत्य, हास्य खतरे में है। हमारा संविधान खतरे में है। सरकार ने उन सभी संस्थाओं का गला घोंट दिया है जहां तर्क, बहस और असहमति का विकास होता है। किसी लोकतंत्र को सबसे कमजोर और सबसे अधिक वंचित लोगों को सशक्त बनाने के बजाय कमजोर बनाया जा रहा है।"

"कोई लोकतंत्र बिना सवाल, बहस और सजग विपक्ष के बिना काम नहीं कर सकता। इन सभी को मौजूद सरकार ने पूरी ताकत से कुचल दिया है। सभी बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए वोट करें। संविधान का संरक्षण करें और कट्टरता, घृणा और निष्ठुरता को सत्ता से बाहर करें।"

इस पत्र पर शांता गोखले, महेश एलकुंचेवार, महेश दत्तानी, अरूंधती नाग, कीर्ति जैन, अभिषेक मजूमदार, कोंकणा सेन शर्मा, रत्ना पाठक शाह, लिलेट दुबे, मीता वशिष्ठ, मकरंद देशपांडे और अनुराग कश्यप ने भी हस्ताक्षर किया । आपको बता दें कि इससे कुछ दिनों पहले ही स्व. सुनील दत्त की बेटी प्रिया दत्त ने कहा था कि बॉलीवुड एक कुनबा बीजेपी से बहुत ही नाराज चल रहा है, जिसमें कहीं न कहीं वर्तमान सरकार की शासन पद्धति जिम्मेवार है। बता दें कि इससे पहले भी 100 ज्यादा फिल्म मेकर्स ने आगामी लोकसभा चुनाव में वोट नहीं देने की अपील की थी।

loading...