Breaking News
  • आईसीसी महिला विश्व टी-20 चैम्पियनशिप के अंतिम ग्रुप मुकाबले में भारत का सामना ऑस्ट्रेलिया से
  • जममू-कश्मीर: पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए वोटिंग, जम्मू-21, घाटी-16 और लद्दाख के 10 ब्लॉको में वोटिंग
  • प्रधानमंत्री मोदी का मालदीव दौरा, नवनिर्वाचित राष्ट्रपति सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह

कैलाश खेर के जीवन को जान, थका हुआ इन्सान भी शुरु कर देगा काम

मुंबई: सूफी गानों से सबके दिलों को जीतने वाले कैलाश खेर का आज 7 जुलाई को जन्मदिन है। संगीत के जूनून और कड़ी मेहनत के जरिए अपनी एक बड़ी पहचान बनाने वाले कैलाश आज 45 साल के हो गए हैं। उत्तर प्रदेश के मेरठ में जन्में कैलाश खेर को शुरु से ही संगीत से बहुत लगाव था। उन्होंने केवल 4 साल की उम्र से ही गाना शुरू कर दिया था।

लोक गीतों में रुचि रखने वाले उनके पिता जो कि कश्मीरी पंडित थे उनसे ही कैलाश खेर को भी संगीत का जुनून चढ़ गया था। बचपन से ही कैलाश अपने गानों से सभी का मन मोह लेते थे। लेकिन किसी का मन मोहना और पैसा कमाने मे बहुत अंतर है। संगीत मे अपनी करियर की राह चुनना कैलाश के लिए आसान नही था। जब उन्होंने जिंदगी मे एक गायक बनने की ठानी तो उनके परिवार ने इसका विरोध किया। इन सब के बावजूद कैलाश ने हार नही मानी और 14 साल की नन्ही उम्र मे ही संगीत के लिए अपना घर छोड़ दिया।

गर्मी के मौसम में, ये फुटवियर आपको दे सकते हैं सबसे ज्यादा आराम

घर छोड़ने के बाद उनकी राह और भी मुश्किल हो गई। वो किसी तरह जगह-जगह जाकर लोक संगीत के बारे में पढ़ने लग। इसके साथ ही अपना खर्च निकालने के लिए कैलाश खेर ने बच्चों को संगीत का ट्यूशन देने का काम शुरू कर दिया। हर बच्चे से वो 150 रुपये फीस लेते थे। कैलाश खेर के जीवन मे एक समय ऐसा भी आया जब वो अपने जीवन से पूरी तरह से निराश हो गए। दरअसल, साल 1999 में उन्होंने अपने दोस्त के साथ हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट बिजनेस शुरू किया। कैलाश और उनके दोस्त को इसमें भारी नुकसान हुआ। जिसके बाद कैलाश ने आत्महत्या तक की कोशिश की थी।

जीवन मे कुछ अच्छा ना होते देख उन्होंने मुंबई का रास्ता चुना। साल 2001 में वो मुंबई पंहुचे और जो भी गायकी के ऑफर मिलता उसे वो गुजारा करने के लिए स्वीकार कर लेते। कैलाश की संगीत की जिन्दगी मे एक नई सुबह तब आई जब वो म्यूजिक डायरेक्टर राम सम्पत से मिले। सम्पत ने कैलाश को एड में जिंगल्स गाने का मौका दिया। उन्होंने पेप्सी से लेकर कोका कोला जैसे बड़े ब्रान्ड्स के लिए जिंगल्स गाए।

कपिल की हालत हो गई है बहुत ज्यादा बुरी, फोटो देखकर फैंस हो गए दुखी!

सुपरहिट गाने 'अल्लाह के बंदे' से कैलाश को बड़ी पहचान मिली। इसके बाद उन्होंने कभी मुड़ कर नही देखा। कैलाश खेर ने बॉलीवुड मे 'रब्बा', 'ओ सिकंदर' और 'चांद सिफारिश' जैसे गाने गाए हैं। उन्हें कुछ गानों के लिए फिल्मफेयर का बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड भी मिल चुका है।

इस मशहूर एक्ट्रेस का हुआ था अपहरण, 30 घंटों तक रखा था भूखा!

REPORT BY: ANKITA SINGH

loading...