Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • योगी सरकार के आने के बाद से संगठित अपराधों पर रोक लगी है: राम नाइक
  • अगर मुझे गाजीपुर से टिकट न मिला तो नहीं लड़ूंगा चुनाव- मनोज सिन्हा
  • अयोध्या में राम मंदिर नहीं तो हिंदुओं का वोट नहीं- प्रवीण तोगड़िया
  • पेट्रोल 17 और डीजल 19 पैसे हुआ महंगा

सुशासन बाबू शर्म करो: फिर हुई सरेआम नाबालिग से छेड़छाड़

पटना: बिहार में सुशासन बाबू की कानून व्यवस्था पर लगातार दूसरा कलंक लगा है। पिछले समय एक नाबालिगा से सरेआम छेड़छाड़ और रेप की कोशिश का मामले शांत भी न ही सका था कि एक और वैसी ही घटना ने महिलाओ और लडकियों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़ा कर दिया है।

बतादें कि नया मामला जहानाबाद के करीब 150 किलोमीटर दूर स्थित कैमूर का है जहाँ भी जहानाबाद जैसी ही घटना को अंजाम दिया गया है। यहाँ कई एक झुण्ड ने नाबालिग लड़की से सरेआम छेड़खानी की और उसके बाद उसका वीडिओ बनाकर वायरल कर दिया। घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें देखा जा सकता है कि एक नाबालिग लडकी से कुछ मनचले सरेआम छेडछाड कर रहे हैं तो एक उनका वीडिओ शूट करने में लगा है। यह घटना हाल ही की बताई जा रही है। जोकि राज्य के कैमूर में घटी है।

तो यह नेता ही बनेंगे 2019 में मोदी की हार के बड़े कारण?

वहीँ मामले की जानकारी होते ही कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। बताया जा रहा है कि युवकों के एक ग्रुप ने नाबालिग को देख उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया। जिसके बाद मनचलो ने नाबालिग लड़की से जबरदस्ती कर कपड़े फाड़ने लगे। पीड़िता लगातार मनचलों से छोड़ देने की गुहार लगाती रही।

बड़ी खबर: चुनाव से पहले मिले 60 लाख फर्जी वोटर, EC ने शुरू की जांच?

ऐसा ही कुछ जहानाबाद में घटा था। जहाँ कुछ अपराधिक प्रवत्ति के लडकों के नाबालिग लडकी के कपड़े फाड़ कर रेप करने की कोशिश की थी। लेकिन सवाल यह है राज्य की कथित सुशासनवादी नीतीश कुमार की पुलिस आखिर क्यों नहीं सख्त एक्शन ले पा रही है। पिछली घटना के दोषियों को अगर सख्त सजा मिली होती तो शायद यह घटना नहीं घटती और एक मासूम की इज्जत तार तार होते बच जाती।

यह भी देखें-

loading...