Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

चमकी बुखार : ...डॉक्टर लांघ रहें सारी सीमाएं, नहीं कर रहें इलाज़

नोएडा : चमकी इन दिनों बिहार में मौत का आफत बनकर बरस रही है, दहशत फैलाने वाले एईएस बुखार ने सैकड़ों जिंदगियां निगल ली है। वहीं दूसरी तरफ प्रशसान की बेशर्मी सारी सीमाएं पार कर रही है। बच्चों की मौत रोक पाने में नाकाम सरकार हर संभव मदद को भरोसा दिला रहे है लेकिन जमीनी स्तर पर हालात काफी खराब है।

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक ओर बच्चों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है तो दूसरी ओर संसाधनों की कमी और मरीजों की संख्या से अस्पताल प्रशासन ने भी हाथ खड़े कर दिए हैं। मरीजों के परिजनों का आरोप है कि बुखार से पीड़ित बच्चों को मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल वापस लौटा रहा है।

परिजनों का आरोप है कि बच्चों को ओआरएस घोल भी नहीं दिया जा रहा है। प्रशासन की लापरवाही का नतीजा है कि अब तक मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के कारण 112 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि राज्य भर में मरने वाले बच्चों की संख्या 140 के करीब तक जा पहुंची है। वहीं करीब 300 बच्चे अब भी अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं।

इस मामले में सबसे बड़ी चिंता की बात है कि मरने वाले या गंभीर रूप से बीमार बच्चों में 80 फीसदी संख्या बच्चियों की हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य राज्य मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर जिला अस्पताल का दौरा कर चुके हैं, लेकिन फिर भी सरकार की व्यवस्थाओं में कोई सुधार नहीं दिख रहा।

loading...