Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • आतंकवाद के खिलाफ़ कार्रवाई में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी सफलता, 36 घंटों के अंदर 8 आतंकी ढेर
  • पाकिस्तान ने राष्ट्रीय दिवस पर अलगाववादी नेताओं को किया आमंत्रित, भारत ने जताया सख्त ऐतराज
  • शहीद दिवस पर आजादी के अमर सेनानी वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को नमन कर रहा है देश
  • आज IPL के 12वें सीजन का आरंभ, एम एस धोनी और विराट कोहली आमने-सामने

मुजफ्फरपुर कांड: बालिका गृह में पहुंची CBI की टीम, क्या-क्या मिला!

पटना: बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में 34 बच्चियों के रेप के मामले में जांच कर सीबीआई की टीम ने बालिका गृह की तलाशी ली है। इस दौरान सीबीआई के साथ सेंट्रल फॉरेसिंक साइंस लेबोरेटरी के अधिकारी भी साथ रहे, जिन्होंने वैज्ञानिक सबूत इकट्ठा किए है। हालांकि फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि सीबीआई अधिकारियों को बालिका गृह के अंदर से किस तरह के नये सबूत मिले हैं।

आपको बता दें कि पिछले दिनों बालिका गृह में रह रही बच्चियों में से 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हुआ थी,जिसके बाद मामले पर कई दिनों तक चले विवाद के के बाद विपक्ष के दवाब में राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने मामले में सीबीआई जांच कराने की सिफारिश किया था। जिसके बाद अब शनिवार को सीबीआई ने बालिका गृह में छापेमारी की है।

हत्या के मामले मे मुलायम सिंह यादव गिरफ्तार!

जानकारी के अनुसार सीबीआई अधिकारियों ने बालिका गृह के उन सील किए गए कमरों को खोले तलाशी ली है, जिन्हें मामले के खुलासे के बाद पुलिस ने सील कर दिया था। सीबीआई की छापेमारी के दौरान पूरे मामले की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई गई है। आपको बता दें कि बालिका गृह में रेप के मामले में मुख्य आरोपी बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर के साथ 10 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, मामले में मुख्य आरोपी से पूछताछ के लिए उसे रिमांड पर लिए जाने के लिए मुजफ्फरपुर कोर्ट में आवेदन दिए जाने से पहले सीबीआई की टीम ने बालिका गृह में छापेमारी की है। बताया जाता है कि पुलिस के गिरफ्त में आने के बाद मुख्य आरोपी ठाकुर ने मुजफ्फरपुर केंद्रीय कारागार में महज पांच दिन ही बिताए हैं।

एक-एक कर परिवार के 8 लोगों को क्यों उतारा मौत के घाट

पुलिस के अनुसार आरोपी जेल में कैदियों के वार्ड में रहने से बच रहा है, वह अपने स्वास्थ्य के आधार पर जेल के मेडिकल वार्ड में ही रह रहा है। इसके साथ ही आपको बता दें कि मामले में सीबीआई जांच पटना हाईकोर्ट की निगरानी में जारी है। वहीं इससे पहले आरोपी ठाकुर के साथ सरकार की एक मंत्री के पति के संबंधों के खुलासे के बाद उन्हें अपने पद का त्याग भी करना पड़ा है।

इन्हें भी देखिए!

loading...