Breaking News
  • गुजरात: 44 बिल्डर्स और फाइनेंसरों के कई ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वार्षिक समीक्षा बैठक में वित्त मंत्री, कर्ज देने की प्रक्रिया को ईमानदार बनाएं बैंक
  • उत्तर भारत में मौसम का कहर जारी, हिमाचल में 3 की मौत, बादल फटने से मची तबाही
  • भारत-पाक विदेश मंत्रियों की वार्ता रद्द होने के बाद सार्क बैठक पर संकट

कई मरीजों की मौत के बाद खत्म हुई डॉक्टरों की हड़ताल

पटना: बिहार में सुरक्षा की मांग कर रहे डॉक्टरों की हड़ताल हालंकि अब खत्म हो गई है, लेकिन इससे पहले डॉक्टरों के हड़ताल ने 10 से अधिक मरीजों की जान ले ली। डॉक्टरों ने अपनी मांगों को लेकर बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार से मिले आश्वासन के बाद हड़ताल खत्म करने का फैसला किया है।

डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने की पुष्टि करते हुए स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि, सरकार से आश्वासन मिलने के बाज सभी हड़ताली डॉक्टर काम पर लौट चुके हैं। आपको बता दें कि इससे पहले एनएमसीएच के जूनियर डॉक्टर पर मंगलवार को मरीज के परिजनों से हमला कर दिया था।

अब MP के हॉस्टल में मूक-बधिर बच्चियों के साथ मुजफ्फरपुर और देवरिया जैसा कांड!

हमले से नाराज एनएमसीएच के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए, जिनका समर्थन करते हुए पीएमसीएच और डीएमसीएच के डॉक्टर भी गुरुवार सुबह हड़ताल में शामिल हुए और इस तरह से राजधानी के अधिकांश डॉक्टर मरीजों को मरने के लिए छोड़कर हड़ताल पर चले गए।

पीएम ने सुनाई दो शानदार कहानी, सुनकर हैरान रह जाएंगे!

हड़ताली डॉक्टरों की मांग है कि ड्यूटी के दौरान जूनियर डॉक्टरों को सुरक्षा दी जाए और साथ ही डॉक्टर के सथ मरीजों के दुर्व्यवहार करने वालों परिजनों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसी मांग को लेकर डॉक्टर हड़ताल पर गए थे। जिसके बाद गुरुवार शाम राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार से आश्वासन दिए जाने के बाद शुक्रवार सुबह सभी डॉक्टर काम पर लौटे हैं।

इसे भी देखे!

loading...