Breaking News
  • संसद के मॉनसून सत्र से पहले लोकसभाध्यक्ष ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • गुजरात में बारिश से अबतक 28 की मौत, यूपी-एमपी में अलर्ट
  • मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी टीडीपी, विपक्षी दलों से मांगा समर्थन
  • भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे मैच

बिहार: बीजेपी-जेडीयू गठबंधन पर मंडरा रहा ख़तरा, नीतीश की जिद में टूट सकती है जोड़ी!

पटना: भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख अमित शाह गुरुवार को बिहार के दौरे पर हैं। उनका यह दौरा कई मायनों में ख़ास माना जा रहा है। इतना ही नहीं इस दौरे से भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड में गठबंधन के भविष्य को लेकर भी बड़ा फैसला होने वाला है।

बतादें कि बिहार में लम्बे समय से राजनीतिक उथल पुथल का माहौल बना हुआ है। पिछले साल ही लालू का साथ छोड़ने के बाद बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले नितीश कुमार का साल 2015 के बाद पहलीबार बीजेपी प्रमुख अमित शाह से सामना होने जा रहा है? साल 2015 में विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़कर सत्ता में आने और पिछले साथ ही गठबंधन तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने वाले नीतीश कुमार का अब बीजेपी के साथ फिर से सीट बंटवारे को लेकर तनातनी चल रही है। ऐसे में गुरुवार को बीजेपी और जेडीयू के गठबंधन भविष्य पर बड़ा फैसला होने वाला है।

वाकई में मामा का विकास पगला गया है: जानिए क्या है हृदयविदारक घटना

 

12 जुलाई यानी की गुरुवार को बीजेपी प्रमुख अमित शाह बिहार की राजधानी पटना पहुंच रहे हैं। उनका दौरा बीजेपी नेताओं को संबोधित करने के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर भी हो रहा है। इस बैठक में नीतीश कुमार से लेकर बोहार के कई मंत्री और बड़े नेता शामिल होंगे। कहा जा रहा है कि इस अमित शाह के साथ जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार सहित पार्टी के कई नेताओं के साथ बैठक में सीट बंटवारे को लेकर फाइनल बात होनी है। जहाँ जेडीयू बिहार में 18-20 सीट पर लड़ने पर अड़ी है तो लोक जनशक्ति पार्टी और उपेन्द्र कुशवाहा के अपने अलग तेवर हैं। इन हालातों में बीजेपी को सभी को साथ लेकर चलना मुश्किल होगा। जहाँ जेडीयू की हुई राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक के बाद उसका गर्म रुख देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सीट बंटवारे पर एकबार फिर से बीजेपी और जेडीयू में घमासान छिड़ सकता है। अब देखना यह होगा कि आज बैठक के बाद क्या फैसला लिया जाता है। वैसे नीतीश कुमार और उनकी जेडीयू का पिछले कुछ दिनों से आरजेडी के संपर्क में भी रहने की खबरें आई हैं।

यह भी देखें-

loading...