Breaking News
  • जो राम का नहीं, वो किसी काम का नहीं-धमतरी में CM योगी
  • दौसा के बीजेपी सांसद हरीश मीणा कांग्रेस ज्वॉइन करेंगे
  • गहलोत बोले, मैं और सचिन पायलट मिलकर लड़ेंगे चुनाव
  • SC ने प्रशांत भूषण से कहा, कोर्ट में उतना ही बोलें जितना ज़रूरी हो

सड़क पर ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले को सरकार से बड़ी राहत!

नई दिल्ली: सड़क पर वाहन चालाते समय अगर आप किसी प्रकार के ट्रैफिक नियमों का उलंघन करते और पुलिस के हाथों पकड़े जाते हैं, तो प्रारंभिक जांच के लिए पुलिस आप से ड्राइविंग लाइसेंस और अन्य दस्तावेजों की ऑरिजिनल कॉपी मांगती थी और आपका देना पड़ता था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा पुलिस आप से जबरन  दस्तावेजों की ऑरिजिनल कॉपी नहीं मांग सकती क्योंकि सरकार ने इन नियमों में कुछ अहब बदलाव किए हैं।

बदले हुए नियमों के तहत आप दस्तावेजों की ऑरिजिनल कॉपी के बजाय अपने फोन की मदद से भी पुलिस अधिकारी को संबंधित दस्तावेज की ई-कॉपी दिखा सकते हैं। इस संबंध में केंद्र सरकार ने राज्यों के परिवहन विभागों और ट्रैफिक पुलिस को निर्देश देते हुए कहा है कि, जांच-पड़ताल के लिए दस्तावेजों की ऑरिजिनल कॉपी लेने की कोई जरूरत नहीं है।

300 से अधिक की मौत, लेकिन इस मुसलमान ने नहीं बदला रास्ता!

सरकार ने यह निर्देश आईटी ऐक्ट के प्रावधानों का हवाला देते जारी किया है। मंत्रालय के अनुसार, डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर मौजूद दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी ही इस तरह के जांच के लिए प्रयाप्त हैं और ये कानूनी तौर पर मान्य होगी। सरकार के इस फैसले के बाद अब यह जरूरी नहीं है कि आप अपने वाहन के साथ हर जरूरी दस्तावेज को लेकर चले।

आपको बता दें कि सरकार के फैसले को अगर कम शब्दों में समझा जाए तो सरकार का मानना है कि, आईटी ऐक्ट 2000 के मुताबिक डिजिलॉकर या एमपरिवहन पर मौजूद दस्तावेज के इलेक्ट्रॉनिक रेकॉर्ड भी मान्य हैं। सरकार के अनुसार, मोटर वीइकल ऐक्ट 1988 में भी इलेक्ट्रॉनिक रूप में दस्तावेजों को मान्यता दी गई है।

कैसे करेगा काम

आपके बता दें कि इसके लिए आपको अपने स्मार्ट फोन में डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप डाउनलोड करना है, और ऐप को इंस्टॉल करने के बाद मांगी जा रही कुछ जरूरी जानकारियों को सही तरीके से भर कर आगे की प्रक्रियाओं का पालन करना है, सभी प्रक्रियाओं के संपन्न होने के बाद संबंधित ऐप में आपका अकाउंट खुल जाएगा।

हाइवे रॉबरी का हैरान कर देने वाला वीडियो!

इसके बाद आप अपने आधार नंबर से अकाउंट को ऑथेंटिकेट करें और अपना आधार नंबर एंटर करेंगे। इसके आधार लिंक किए गए अपने फोन नंबर को एंटर करें। ऐसे करने के बाद आपके फोन पर एक ओटीपी नंबर भेजा जाएगा, जिसे भरने के बाद यह प्रक्रिया पूरी होगी और अब अपने सभी जरूरी दस्तावेजों को यहां रख सकते हैं जो कभी भी आपके काम आ सकता है।

यहां एक और खास जानकारी दे दें कि, फिलहाल डिजिलॉकर ऐप सभी फोनों के लिए उपलब्ध है लेकिन एमपरिवहन ऐप सिर्फ ऐंड्रॉयड फोन के लिए ही उपलब्ध है। लेकिन मंत्रालय के अधिकारियों का दावा है कि आने वाले सप्ताह या 10 दिनों के अंदर ये ऐप भी सभी प्लैटफॉर्म पर भी उपलब्ध होंगे।

इसे भी देखिए!

loading...