Breaking News
  • 2019 में महाराष्ट्र में अकेल दम पर चुनाव लड़ेगी शिवसेना
  • रेप के आरोपी दाती महाराज ने पेशी के लिए पुलिस से मांगी दो दिन की मोहलत
  • यूपी: गो हत्या के आरोप में शख्स की पीट-पीट कर हत्या

जल्द भारत की सड़कों पर दौड़ेगी ये इलेक्ट्रिक बस, यहां पढ़े क्या है खास

jbm bus

ग्रेटर नोएडा:- भारत की दिग्गज वाहन कंपनी जेबीएम ऑटो लिमिटे और यूरोप की ई-मोबिलिटी कंपनी सोलारिस बस एंड कोच एसए के बीच संयुक्त उपक्रम जेबीएम सोलारिस इलेक्ट्रिक व्हीक्ल्स लिमिटेड ने ऑटो एक्सपों 2018 में अपनी 100 प्रतिशत इलेक्ट्रिक बस सीरीज इको-लाइफ को लॉन्च किया।

जेईवी इको-लाइफ की खूबियां

  • फास्ट चार्जिंग लिथियम बैटरीज
  • पैंटोग्राफ चार्जिंग
  • प्लग-इन चार्जिंग सिस्टम
  • ट्रैक्शन मोटर
  • इंडिपेंडेंट फ्रंट सस्पेंशन
  • इन्वर्टेड पोर्टल एक्सल टेक्नोलॉजी
  • कॉरिजन रेरिस्टेंट मोनोकोक स्ट्रक्टर
  • नीलिंग मैकेनिज्म

जल्द भारत की सड़कों पर दौड़ेगी ये इलेक्ट्रिक बस, यहां पढ़े क्या है खास

jbm auto expo

जीरो एमीसन व्हिकल यानी जेईवी इको लाइफ 10 सालों के परिचालन के दौरान लगभग 959 कार्बन डाईऑक्साइड टन और 350000 लीटर डीजल की बचत करेगी। यह भारत में सार्वजनिक परिवहन के परिचालन की दिशा में एक बड़ा बदलाव है। तेजी से चार्ज होने वाली लिथियम बैटरी द्वारा संचालित इको लाइफ 10-15 घंटे में शहर  की यातायात स्थिति के हिसाब से 150-200 किलोमीटर चल सकती है। लिथियम बैटरियां पेंटो ग्राफ के साथ साथ प्लग इन चार्जिंग सिस्टम के जरिए चार्ज की जाती है। एक संपूर्ण फ्लेक्सीबल सॉल्युशन की पेशकश के साथ इलेक्ट्रिक बस टेक्नोलॉजी जनसांख्यिकी और भौगोलिक स्थिति के आधार पर शहर में बस परिचालन के लिहाज से अनुकूल है।

बस में मौजूद है ये सेफ्टी फीचर्स

  • लाइव कैमरै, सेंट्रली मॉनीटर्ड सिस्टम
  • जीपीएस से कनेक्टेड पैसेंजर इन्फॉर्मेशन सिस्टम
  • इमरजेंसी सेफ स्टॉप बटन
  • फायर एक्सटिंगुशर
  • इलेक्ट्रॉनिक रुप से नियंत्रित एंट्री
  • ऑल व्हिल डिस्क ब्रेक्स
  • फायर डिटेक्शन एंड सप्रेशन सिस्टम
  • इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकिंग सिस्टम
  • इमरजेंसी एक्जिट डोर्स
  • लर्ज विंडोज एडिंग 360 डिग्री
  •  पैनोरमिक व्यू इनसाइड-आउट

भारत में पहली बार लॉन्च हुई रॉयल एनफील्ड 650 ट्विन इंजन- एक साथ दो धमाके...

इको-लाइफ का निर्माण हरियाणा के फरीदाबाद और उत्तर प्रदेश की कोसी में किया जाएगा। कंपनी सालाना 2000 बसों का निर्माण करेगी। बस में कैंटिलीवर सीटें हैं जो यात्रियों के लिए पैर फैलाने के लिए अतिरिक्त स्पेस प्रदान करती हैं और साथ ही स्टोरेज स्पेस भी बड़ा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज औरट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

loading...