Breaking News
  • गुजरात: 44 बिल्डर्स और फाइनेंसरों के कई ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वार्षिक समीक्षा बैठक में वित्त मंत्री, कर्ज देने की प्रक्रिया को ईमानदार बनाएं बैंक
  • उत्तर भारत में मौसम का कहर जारी, हिमाचल में 3 की मौत, बादल फटने से मची तबाही
  • भारत-पाक विदेश मंत्रियों की वार्ता रद्द होने के बाद सार्क बैठक पर संकट

नवग्रह के दोष दूर करने के अचूक उपाय, होगी धन की वर्षा

नई दिल्ली:- हिंदू परंपरा में ईश्वर की उपासना अलग-अलग रूपों में की जाती है। अगर आप की कुंडली में ग्रहों से संबंधित कोई समस्या हो तो, जानते हैं कि किस ग्रह के लिए किस देव की उपासना सबसे उत्तम होगी।

जाने पूजा करने के 9 नियम, फिर कभी असफल नहीं जाएगी आप की भक्ति!

पंडित कमल नयन तिवारी की माने तो, अगर कोई जातक सूर्य से पीड़ित हो, यानी उसकी कुंडली में सूर्य नीच, शत्रु ग्रह के साथ या फिर कमजोर हो तो सूर्य शांति के लिए भगवान आदित्य के साथ साथ मां गायत्री का पूजन करें।

चंद्रमा के लिए भगवान भोलेनाथ का पूजन लाभकारी होगा

मंगल के लिए कार्तिकेय, बजरंगबली का पूजन करना चाहिए

बुध के लिए मां दुर्गा की उपासना करें।

OMG: राम-रावण की ऐसी तुलना यूपी में ला सकता है महाप्रलय!

गुरु के लिए भगवान विष्णु का पूजन-पाठ फलदायी रहेगा।

शुक्र के लिए मां लक्ष्मी, गौरी की पूजा करें।

शनि के लिए भगवान श्री कृष्ण, शिव जी का ध्यान, पूजन करें।

राहु के लिए भैरवनाथ का पूजन करें।

केतु पीड़ा से मुक्ति के लिए भगवान गजानन का अर्चन-पूजन करना लाभकारी रहेगा।

loading...