Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • होली के पावन पर्व पर पीएम मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने सभी देशवासियों को दी शुभकामनाएं
  • भारत पर कोई और आतंकी हमला हुआ तो फिर इस्लामाबाद के लिए हो जाएगी ‘बहुत मुश्किल’
  • भाजपा के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र इस बार नहीं लड़ेंगे लोकसभा चुनाव
  • जम्मू के सोपोर इलाके में सुरक्षाकर्मियों और आंतकियों के बीच मुठभेड़

नवग्रह के दोष दूर करने के अचूक उपाय, होगी धन की वर्षा

नई दिल्ली:- हिंदू परंपरा में ईश्वर की उपासना अलग-अलग रूपों में की जाती है। अगर आप की कुंडली में ग्रहों से संबंधित कोई समस्या हो तो, जानते हैं कि किस ग्रह के लिए किस देव की उपासना सबसे उत्तम होगी।

जाने पूजा करने के 9 नियम, फिर कभी असफल नहीं जाएगी आप की भक्ति!

पंडित कमल नयन तिवारी की माने तो, अगर कोई जातक सूर्य से पीड़ित हो, यानी उसकी कुंडली में सूर्य नीच, शत्रु ग्रह के साथ या फिर कमजोर हो तो सूर्य शांति के लिए भगवान आदित्य के साथ साथ मां गायत्री का पूजन करें।

चंद्रमा के लिए भगवान भोलेनाथ का पूजन लाभकारी होगा

मंगल के लिए कार्तिकेय, बजरंगबली का पूजन करना चाहिए

बुध के लिए मां दुर्गा की उपासना करें।

OMG: राम-रावण की ऐसी तुलना यूपी में ला सकता है महाप्रलय!

गुरु के लिए भगवान विष्णु का पूजन-पाठ फलदायी रहेगा।

शुक्र के लिए मां लक्ष्मी, गौरी की पूजा करें।

शनि के लिए भगवान श्री कृष्ण, शिव जी का ध्यान, पूजन करें।

राहु के लिए भैरवनाथ का पूजन करें।

केतु पीड़ा से मुक्ति के लिए भगवान गजानन का अर्चन-पूजन करना लाभकारी रहेगा।

loading...