Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

भाई दूज : इस शुभ मुहूर्त में करें पूजन, भाई के लिए हितकारी हैं यह समय

नई दिल्ली : भाई दूज एक ऐसा पर्व जिस दिन बहनें भाई के लंबी उम्र की प्रार्थना करती हैं। ऐसा माना जाता है कि बहनों द्वारा इस दिन पूजा करने से जहां भाई की उम्र लंबी होती हैं वहीं भाई के घर खुशियों की भी बरसात होती हैं। भाई दूज का त्यौहार बहन एवं भाई के प्रेम का प्रतीक है। यह त्यौहार रक्षा बंधन की ही तरह मनाई जाती हैं लेकिन भाई दूज के दिन बहनें राखी नहीं बल्कि कलेवा बांधती हैं और भाई को बजरी खिलाती हैं। इस दिन भाई द्वारा बहनों को कुछ उपहार भी देना चाहिए नहीं तो भाई के घर दरिद्रता का वास होता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन बहनें अपने भाई के लिए यम से लंबी उम्र की प्रार्थना करती हैं। 

इस पौधे के 11 पत्ते बना देंगे आपको धनवान और होंगी समस्याएं दूर

इस शुभ मुहूर्त में करें पूजन -

मुहूर्त प्रारंभ- दोपहर 1 बजकर 10 मिनट।

मुहूर्त समाप्त- दोपहर 3 बजकर 27 मिनट।

मुहूर्त अवधि- 2 घंटे 17 मिनट।

पान के पत्तों के ये उपाय बदल देंगे आपकी किस्मत

पूजन विधि

 - सबसे पहले बहनें चावल के आटे से चौक तैयार करें।

 - इस चौक पर भाई को बैठाएं और फिर उनके हाथों की पूजा करें।

- इसके लिए भाई की हथेली पर आप चावल का घोल लगाएं।

- इसके बाद इसमें सिन्दूर लगाकर कद्दु के फूल, पान, सुपारी, मुद्रा आदि हाथों पर रख कर धीरे-धीरे हाथों पर पानी छोड़ते हुए मंत्र बोलें।

रोज की पूजा में न करें ये छोटी-छोटी गलतियां

- किसी-किसी जगह पर इस दिन बहनें अपने भाइयों की आरती भी उतारती हैं और फिर हथेली में कलावा बांधती हैं।

- कलेवा बांधने के बाद भाई को बजरी यानी केरांव खिलाये।

 - भाई का मुंह मीठा करने के लिए भाइयों को मिश्री या मिष्ठान खिलाना चाहिए।

- शाम के समय बहनें यमराज के नाम से चौमुख दीया जलाकर घर के बाहर दीए का मुख दक्षिण दिशा की ओर करके रखें।

भूलकर भी गाय को कभी नहीं खिलानी चाहिए बासी रोटी

loading...