Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • प्रमोद सावंत ने 11 मंत्रियों के साथ ली गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ
  • राजनयिकों को परेशान करने पर भारत ने #Pakistan को सुनाई खरी-खरी
  • आतंकियों के खिलाफ एयर स्ट्राइक के कारण NDA को 13 सीटों का फायदा: सर्वे

जानिए क्या हैं छोटी दिवाली की शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

नई दिल्ली : आज छोटी दिवाली अर्थात नरक चतुर्दशी हैं यानी दिवाली से एक दिन पहले का दिन। जिसे हम दीप दान के नाम से जानते हैं। इस दिन घर के द्वार दीपक जलाए जाते हैं। छोटी दिवाली के दिन यम देवता की पूजा की जाती है। मान्यता है कि यम देवता की पूजा करके लोग अपने परिवार वालों के लिए नरक निर्वाण की कामना करते हैं। आइए जानें इस दिन किस तरह पूजा की जाती है।

दीपों का त्योहार दिपावली आखिर मानते क्यों हैं, जानिए इसके पीछे की अनेकों वजह

जानिए, पूजा के शुभ मुहूर्त क्या है?

इस बार पूजा के लिए तीन शुभ मुहूर्त हैं...

सुबह:  9 बजकर 32 मिनट से 11 बजकर 45 मिनट तक।

दोपहर: 12  बजकर 05 मिनट से 1 बजकर 22 मिनट तक।

शाम: 5 बजकर 40 मिनट से 7 बजकर  05 मिनट तक।

इस पौधे के 11 पत्ते बना देंगे आपको धनवान और होंगी समस्याएं दूर

पूजन -

नरक चतुर्दशी पर सुबह तेल लगाकर चिचड़ी की पत्तियां(चिचड़ी- चमत्कारी पौधा) पानी में डालकर स्नान करने से नरक से मुक्ति मिलती है। इस मौके पर 'दरिद्रता जा लक्ष्मी आ' कह घर की महिलाएं घर से गंदगी को घर से बाहर निकालती हैं।

पान के पत्तों के ये उपाय बदल देंगे आपकी किस्मत

पूजन-विधि

 इस दिन सुबह उठकर सबसे पहले नहा धोकर सूर्य भगवान को अर्घ्य दें और संभव हो तो तिल का तेल लगाने के बाद नहाएं।

 इस दिन शरीर पर चंदन का लेप लगाकर नहाने और भगवान कृष्ण की उपासना करने का भी विधान है।

शाम के समय घर की दहलीज पर दीप जलाएं और यम देव की पूजा करें।

नरक चौदस के दिन भगवान हनुमान की पूजा भी की जाती है।

हस्तरेखा शास्त्र में जानिए क्या होती है हार्ट लाइन, इससे जुड़े फायदें

loading...