Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • भारतीय वायु सेना में शामिल हुआ बहुउद्देशीय हेलीकॉप्टर Chinook
  • पत्नी के साथ विदेश यात्रा पर रवाना हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद- क्रोएशिया, बोलिविया और चिली की यात्रा पर
  • पाकिस्तान: सिंध में दो नाबालिग हिंदू बहनें अगवा, सुषमा स्वराज ने मांगी रिपोर्ट
  • जनवरी में 9 लाख लोगों को मिला रोजगार, EPFO की रिपोर्ट में खुलासा

104 साल बाद इस दिन लग रहा है 21वीं सदी का सबसे लंबा और पूर्ण चंद्रग्रहण

नई दिल्ली: अगले महीने 27 जुलाई को 21वीं सदी का सबसे लंबा और पूर्ण चंद्रग्रहण लगने वाला है, जानकारी के अनुसार ऐसा करीब 104 साल बाद हो रहा। जानकारों के अनुसार इसका खास असर चार राशियों पर होगा।

जानकारों के अनुसार, आषाढ़ मास की पूर्णिमा को खग्रास चंद्रग्रहण होगा। यह चंद्र ग्रहण 1 घंटा 43 मिनट तक रहेगा जो भारत, दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका, पश्चिम एशिया, आस्ट्रेलिया के साथ यूरोप में दिखेगा।

बता दें कि इससे पहले 31 जनवरी 2018 को पहला चंद्रग्रहण लगा था। जिसके बाद अब जुलाई के चंद्रग्रहण को लेकर कहा जा रहा है कि यह 'ब्‍लडमून' होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जनवरी में कई देशों में 'ब्लडमून', 'सुपरमून' और 'ब्लूमून' की एक दुर्लभ खगोलीय घटना देखने को मिली थी।

 

loading...